कार्य का विवरणः- श्री सुनील कुमार पाण्डेय, पुलिस अधीक्षक मंदसौर द्वारा जिले में अपराध एवं अपराधियों पर नियंत्रण हेतु दिये गये निर्देषों के तारतम्य में पुलिस थाना भानपुरा द्वारा श्री महेन्द्र तारणेकर अति0 पुलिस अधीक्षक गरोठ एवं श्री फूलसिंह परस्ते अनु0 अधिकारी पुलिस गरोठ के मार्गदर्षन में थाना भानपुरा क्षेत्रांतर्गत घटित 14 वर्षीय बालिका हर्षिता के कत्ल की घटना का 48 घण्टे के अंदर खुलासा कर 01 आरोपी को गिरफ्तार करने में बड़ी सफलता प्राप्त की है।
घटना के संक्षिप्त विवरण अनुसार, दिनांक 02.10.21 को सूचनाकर्ता सुरेश क्षोत्रीय ने थाना भानपुरा पर रिपोर्ट किया कि उसकी 14 वर्षीय लड़की हर्षिता दिनांक 01.10.21 की सायं करीब 07.00 बजे से घर पर नहीं होने से मोहल्ले व आसपास सभी जगह तलाश करने पर नहीं मिली। हर्षिता की चप्पल घर पर ही मिलने से शंका होने पर घर में बनी कुईया में देखा तो हर्षिता का शव दिखा। उक्त सूचना पर से थाना भानपुरा पर मर्ग क्र. 50/2021 धारा 174 जा.फौ. का कायम कर जाँच में लिया गया। दौराने जाँच मृतिका के गले में व नाक पर चोट के निशान होने से व कुईया के मुँह का ढक्कन बंद होने तथा मृतिका की शार्ट पी.एम. रिपोर्ट में मृत्यु के पूर्व चोट आई होना व पानी में डूबने से मृत्यु होना पाया गया, जिस पर संज्ञेय अपराध पाया जाने से थाना भानपुरा पर अप.क्र. 461/21 धारा 302, 201 भादवि का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।
प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देषन में एक टीम गठित कर अज्ञात आरोपी की पतारसी हेतु दिये गये निर्देषों के तारतम्य में विवेचना के दौरान मृतिका के परिजनों के कथन लिये गये व घटना स्थल का सूक्ष्मता से निरीक्षण किया। विवेचना के दौरान परिवारजनों पर संदेह होने पर मृतिका की भाभी रश्मि क्षोत्रीय उम्र-22 साल नि.व्यास गली भैसोदा से गहनता से पूछताछ करने पर आरोपिया द्वारा बताया कि मेरी शादी 2020 में भैसोदा में ऐश्वर्य से हुई थी। शादी के बाद मेरी ननद हर्षिता मेरी दिन भर की दिनचर्या की बातें मेरे पति ऐश्वर्य व मेरे ससुर को बताती थी तथा दिनांक 01.10.2021 की सुबह करीब 10 बजे मैं नहाकर बाथरूम से रूम तरफ आई तो मेरे ससुर जी आ गये तो वह मुझे गले लगाने लगे तो मेरी ननंद हर्षिता ने देखा तो मुझे मन में शंका हो रही थी कि हर्षिता परिवारजन को बता नही दें। तब सभी लोग अपने-अपने काम पर चले गये। शाम करीब 07 बजे मेरी सास बाजार में मिर्ची लेने चली गई थी। मेरे पापा अशोक दुबे अंदर वाले रूम में टीवी देख रहे थे। मैं व हर्षिता आगे वाले रूम पर आँखों पर पटटी बांधकर आंख मिचोली खेलने लगे। तभी मुझे मेरी ननंद हर्षिता द्वारा टार्चर करने व ससुर के साथ देखने वाली बात याद आकर गुस्सा आ गया तो मैंने हर्षिता के गले में रखा सफेद गमछे से उसके आंखों पर पटटी बांध दी और हत्या करने के उद्देश्य से कूलर पर रखे चाकू से उसकी नाक पर व गले पर वार कर दिया तो आँखों की पटटी वाला सफेद गमछा उसके गले पर आ गया तो मैंने गमछा कस दिया तो वह बेहोश जैसी हो गई तो मैं खींचकर उसको कुईया तक ले गई, कुईया का पत्थर हटाकर हर्षिता को कुईया के अंदर धकेलकर पानी में डालकर उसकी हत्या कर दी। प्रकरण में आरोपिया की निषांदेही से अपराध में प्रयुक्त आलाजरब चाकू व अन्य सामग्री बरामद की गई है।

गिरफ्तारषुदा आरोपी का नाम :-
1- रश्मि पति ऐष्वर्य क्षोत्रीय उम्र 22 साल नि. व्यास गली भैसोदा थाना भानपुरा

पुलिस टीम :- उक्त कार्यवाही में निरीक्षक कमलेश सिंगार थाना प्रभारी भानपुरा, उनि रितेश नागर, आर.110 रामकरण, आर.777 नरेन्द्र सोनी, आर.244 बाबुलाल, आर.118 प्रेमकुमार, प्र0आर. 339 बतुल चावड़ा, म.आर. 840 खुशबु बांगा की महत्वपूर्ण भूमिका रही।